डीसी अजित बालाजी जोशी ने विभिन्न विभागों के अधिकारियों को साथ लेकर खेतों का दौरा किया ।

Dated : 4/7/2015 12:00:00 AM
जींद, 7 अप्रैल बेमौसमी बारिश की वजह से जिला में खराब हुई गेेंहू की फसल का जायजा लेने के लिए डीसी अजित बालाजी जोशी ने विभिन्न विभागों के अधिकारियों को साथ लेकर खेतों का दौरा किया । इस दौरान उन्होंने ड्रेनों का भी मुआयना किया ताकि अधिक बारिश होने की सूरत में खेतों से पानी सुविधा पूर्वक निकाला जा सके। डीसी ने अपना एक दिवसीय दौरा किनाना गांव से प्रारम्भ करते हुए सफीदों के पास अंटा गांव के पास होकर गुजरने वाली ड्रेन तथा खेतों तक किया। उन्होंने इस दौरान किसानों की व्यथा को सुनते हुए कहा कि जिला के प्रत्येक खेत की गिरदावरी सही तरीके से करवाई जाएगी। जिस किसान की जितनी फसल का नुक्सान हुआ है। उसे हर हाल में उतना मुआवजा उपलब्ध करवाया जाएगा। डीसी ने पड़ाना ड्रेन पर बने हैड का निरीक्षण करते हुए शामलों कलां गांव के लोगों की मांग पर कहा कि शामलों कलां गांव से बांस पड़ाना हैड तक एक ड्रेन बनाने के लिए जल्द ही प्रपोजल तैयार किया जाएगा ताकि शामलों कला गांव के खेतों में जमा होने वाले पानी की निकासी सुनिश्चित की जा सके। उन्होंने साथ ही कहा कि पानी की निकासी के लिए एक पम्प जरूरत के हिसाब से चलाया जा सकता है। उन्होंने सम्बंधित अधिकारियों को इन दोनों कार्यो के लिए शीघ्र प्रपोजल तैयार करने के निर्देश दिए। डीसी ने जिला राजस्व विभाग के अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि पूरे जिले में बेमौसमी बारिश की वजह से खराब हुई फसल का एक मैप तैयार करें ताकि यह पता लगाया जा सके कि किस क्षेत्र में बारिश की वजह से कितना नुक्सान हुआ है। डीसी ने इसके उपरांत भंभेवा ड्रेन , हाडवा गांंगोली ड्रेन , सफीदों ड्रेन का भी निरीक्षण किया। इस दौरान ग्रामीणों ने बताया कि भंभेवा डे्रन जिला से बाहर निकलने पर तथा गोहाना क्षेत्र में प्रवेश होने पर कुछ क्षेत्र में बंद पड़ी है। इस पर डीसी ने कहा कि इस ड्रेन को सुचारू रूप से शुरू करवाने के लिए उच्च अधिकारियों से बातचीत की जाएगी। इस दौरान उन्होंने सिवाना भम्भेवा तथा मालसरी खेड़ा गांव में पानी के जमा होने से बनी झीलों को ठीक करवाने के लिए भी प्रस्ताव तैयार करने के निर्देश दिए। डीसी ने इसके उपरांत मुख्यमंत्री मनोहर लाल के जिला में आगमन को लेकर धड़ालौ गौशाला में होने वाले कार्यक्रम की तैयारियों का भी निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने गौशाला परिसर का दौरा कर आवश्यक जानकारी प्राप्त की। इस दौरान उन्होंने गौशाला की ईटीटी सैंटर का भी अवलोकन किया। डीसी ने मुख्यमंत्री के कार्यक्रमों की तैयारियों को लेकर सम्बंधित अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश भी दिए। इस दौरान उनके साथ अतिरिक्त उपायुक्त गौरी पराशर जोशी , सफीदों की एसडीएम ममता शर्मा तथा विभिन्न विभागों के अधिकारी मौजूद थे। ----






गैस एजेंसियों को सीएसआर योजना को आगामी आदेशों तक रोकने के गैस एवं पैट्रोलियम कंपनी के निर्देश।

Dated : 4/7/2015 12:00:00 AM
जींद 7 अप्रैल प्राकृतिक एवं नैच्युरल गैस मंत्रालय नई दिल्ली ने सभी गैस कम्पनियों को पत्र जारी करते हुए निर्देश दिए है कि सीएसआर(कॉरपोरेटर सोशल रिस्पोंसिबल्टी) स्कीम के तहत बीपीएल परिवारों को अनुदान के आधार पर मिलने वाले गैस कनेक्शनों पर आगामी आदेशों तक रोक लगा दी गई हैं। सरकार द्वारा यह योजना 31 मार्च 2015 तक चलाई गई थी । इस योजना में जिले के कुल 2088 परिवारों द्वारा जिले की विभिन्न गैस एजेंसियों में आवेदन किया था। जिसके तहत कुल 502 लाभार्थियों को गैस कनैक् शन जारी करवाए गए है। इस योजना को आगे चलाने के लिए खाद्य एवं पूर्ति विभाग ने रूचि लेते हुए प्राकृतिक एंव नैच्युरल मंत्रालय नई दिल्ली को इस योजना को 31 दिसम्बर 2015 तक बढ़ाने बारे लिखा है क्योंकि स्टेट लेवल कॉरडिनेटर इंडियन ऑयल कारपोरेशन पानीपत द्वारा सभी तेल कम्पनियों को अपने ट्रेडिंग एरिया में गैस कनैक् शन जारी रखने बारे निर्देश दिए हुए थे। जिसके कारण ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले लोग इस योजना का लाभ उठाने से वंचित रह गए थे। जिला खाद्य एंव आपूर्ति नियंत्रक अशोक कुमार रावत ने बताया कि सरकार द्वारा इस येाजना का लाभ सभी ग्रामीण एंव शहरी बीपीएल पात्रों को देने हेतू इस योजना को 31 दिसम्बर 2015 तक चलाने का अनुरोध खाद्य एवं आपूर्ति विभाग चंडीगढ द्वारा किया है। सरकार से आगामी आदेश मिलते ही इन परिवारों को गैस के कनैक् शन दिलवाने बारे आगामी कार्यवाही की जाएगी। -----






राज्यपाल को यूनिवर्सिटी में गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया।

Dated : 3/19/2015 12:00:00 AM
जींद 19 मार्च राज्यपाल को यूनिवर्सिटी में गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया। विश्वविद्यालय परिसर में राज्यपाल प्रौ० कप्तान सिंह सोलंकी ने बड़ का पौधा लगाया जबकि हरियाणा के कृषि मंत्री ओपी धनखड़ ने नीम का पौधा लगाया। इसके पश्चात कृषि मंत्री ने भिवानी जिले के बाडड़ा विधानसभा क्षेत्र के 7-8 गांवों का हेलीकॉप्टर से सर्वेक्षण किया तथा पिछले दिनों खराब मौसम के कारण फसलों को हुए नुक्सान की भरपाई के लिए किसानों को भरोसा दिलाया। फसल के हवाई सर्वेक्षण के दौरान कृषि मंत्री के साथ बाडड़ा के विधायक सुखविन्द्र मांडी, बीजेपी राष्ट्रीय किसान मोर्चा के सदस्य जवाहर सैनी भी साथ थे। भिवानी के बाठडा हलका के हवाई सर्वेक्षण के पश्चात कृषि मंत्री जींद में चौ० रणबीर सिंह यूनिवर्सिटी में पहुंचे और राज्यपाल के साथ दोपहर का खाना खाया। कृषि मंत्री ने इस अवसर पर कहा कि खराब मौसम के चलते प्रदेश में फसलों को हुए नुक्सान की भरपाई की जाएगी। किसानों को उनकी फसलों को हुए नुकसान का पूरा मुआवजा दिया जाएगा। प्रदेश सरकार द्वारा किसान व कमेरे वर्गो के हितों को सर्वोच्च प्राथमिक दिया जा रहा है। जींद की चौ० रणबीर सिंह यूनिवर्सिटी में हुए तीन दिवसीय अंतरराष्ट्रीय सेमिनार के उद्घाटन अवसर पर बीजेपी के बीजेपी के जिला प्रधान ओपी पहल, राष्ट्रीय किसान मोर्चा के सदस्य जवाहर सैनी, स्वामी राघवानन्द , संजय पंवार, अरूण जैन, सज्जन गर्ग, जितेन्द्र छात्तर समेत कई वरिष्ठ नेता साथ थे। ----






हर नागरिक पहले अपने विचारों को विकसित करें, दुनिया का भौतिक विकास अपने आप हो जाएगा।

Dated : 3/19/2015 12:00:00 AM
जींद 19 मार्च हरियाणा के राज्यपाल प्रौ० कप्तान सिंह सोलंकी ने कहा कि विश्व को भारत से काफी अपेक्षाएं है। ऐसे में हर नागरिक पहले अपने विचारों को विकसित करें, दुनिया का भौतिक विकास अपने आप हो जाएगा। राज्यपाल ने यह विचार वीरवार को चौ. रणबीर सिहं विश्वविद्यालय में आयोजित 3 दिवसीय अंतरराष्ट्रीय सेमिनार का उद्घाटन करने के उपरांत कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए व्यक्त किए। इससे पूर्व उन्होंने विश्वविद्यालय खेल परिसर की आधारशिला भी रखी। उन्होंने कहा कि 21वीं सदी टैक्र ोलोजी की सदी होगी। ऐसे में इस तकनीकी का प्रयोग विश्व के समग्र विकास के लिए करें, प्रकृति के विनाश के लिए नहीं । मानव का जीवन प्रकृति के विकास के साथ जुड़ा हुआ है, इसलिए प्रत्येक व्यक्ति को प्रकृति के प्रति प्रेमभाव विकसित करना चाहिए। उन्होंने रावण की लंका का उदाहरण देते हुए कहा कि लंका ने भी भौतिक विकास तो बहुत किया था लेकिन वहां के लोगों के विचार विकसित नहीं हो सके। जिस कारण उसका विनाश हुआ। उन्होंने कहा कि देश के विकास के लिए प्रत्येक व्यक्ति को समाज के प्रति अपने दायित्वों के निर्वहन को आदत के रूप में अपनाना होगा तभी सही अर्थो में देश का समग्र विकास होगा। राज्यपाल ने कहा कि विश्व को अगर शक्ति का केन्द्र बनना है तो हर देश को योग क्रियाओं को अपनाना होगा। दुनिया ने योग के महत्व को अच्छी तरह से जान लिया है। इसलिए दुनिया के एक सौ से अधिक देशों ने योग दिवस मनाने का निर्णय ले लिया है। इस वर्ष भारत अंतरराष्ट्रीय योग दिवस 21 जून को चीन देश में मनाएगा। राज्यपाल ने चौ० रणबीर सिंह विश्वविद्यालय द्वारा विद्यालयों में जाकर विद्यार्थियों को शिक्षा के प्रति जागरूक करने के लिए चलाई गई मुहिम की प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि महाविद्यालयों, विश्वविद्यालयों के विद्यार्थियों को देश के ग्रामीण आंचल के स्कूलों एंव क्षेत्र का दौरा करना चाहिए ताकि उस क्षेत्र की कमियों के बारे में अवगत हो सके। उच्च शिक्षा प्राप्त कर रहे विद्यार्थी ही भविष्य के प्रशासक , राजनेता , डाक्टर , इंजीनियर व अन्य क्षेत्रों के विशेषज्ञ बनेगें। अगर उन्हें पहले से ही इन कमियों के बारे में पता लग जाए तो वे इनके निराकरण में काफी अहम भूमिका निभा सकते हैं। राज्यपाल ने कृषि क्षेत्र में दवाई एवं खाद के अंधाधुंध प्रयोग पर चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि यह न केवल अन्य जीव जंतुओं के लिए घातक है बल्कि मानव जाति के विनाश का कारक भी साबित हो सकता है। उन्होंने किसानों से अपील की कि वे कृषि क्षेत्र में अंधाधुंध दवाईयों एवं उर्वरकों का प्रयोग न करें। ऐसा करके वे एक सभ्य एंव सशक्त समाज के निर्माण में अपना योगदान अदा कर सकते हैं। राज्यपाल ने कहा कि विश्वविद्यालयों के उप-कुलपतियों को आश्वस्त करते हुए कहा कि वे विद्यार्थियों को बेहतरीन शिक्षा उपलब्ध करवाने का कार्य करें। विश्वविद्यालयों के विकास एवं शिक्षा के विस्तार में किसी प्रकार की कोई कमी नहीं रहने दी जाएगी। उन्होंने यह भी कहा कि अगर इस उदेश्य में किसी प्रकार की कोई दिक्कत आ रही है तो वे तुरंत सूचित कर दें। इस अवसर पर राज्यपाल ने विश्वविद्यालय परिसर मं लगाई गई फोटों प्रदर्शनी का भी अवलोकन किया। चौ० रणबीर सिंह विश्वविद्यालय के उप कुलपति मेजर जनरल रणजीत सिंह ने कहा कि यह विश्वविद्यालय दुनिया के एक सौ बेहतरीन विश्वविद्यालय में शामिल है। इस विश्वविद्यालय में जल्द ही 13 नए कोर्स शुरू करवाए जाएगें। उन्होंने कहा कि रिसर्च कार्यक्रम इसी वर्ष मई व जून माह में शुरू हो जाएगा। उन्होंने विद्यार्थियों का आह्वन किया कि आगे बढऩे एंव जीवन में सफल होने के लिए अंग्रेजी , हिन्दी समेत अन्य भाषाओं पर अपनी पकड़ मजबूत करें। उन्होंने स्पष्ट कहा कि जो व्यक्ति जितनी अधिक भाषाओं पर अपनी पकड़ मजबूत करेगा , वह व्यक्ति उतना ही जल्द सफलता की सीढिय़ों पर चढ़ता चला जाएगा। उन्होंने यह भी कहा कि शिक्षा के स्तर में प्राथमिक चरण से ही सुधार लाने के लिए विश्वविद्यालय द्वारा स्कूलों का दौरा शुरू कर दिया गया है। इस मुहिम में बच्चों को शिक्षा के साथ-साथ संस्कार देने जैसे कार्य भी किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि आयोजित अंतरराष्ट्रीय सेमिनार में अमेरिका ,कनाडा, यूके, नाईजीरिया तथा यमन देशों से आए 400 से अधिक शोधार्थी पंजीकरण करवा चूके हैं। कार्यक्रम को राष्ट्रीय विचारक एंव सामजिक चिंतक इन्द्रेश तथा , हिमाचल प्रदेश शिमला यूनिवर्सिटी के उप कुलपति एडीएन वाजपेयी ,हिंसा मुक्त प्रदूषण मुक्त कार्यक्रम की राष्ट्रीय कनवीनर गीता ने भी सम्बोधित किया। इस अवसर पर राज्यपाल की सचिव नीलम प्रदीप कासनी ,डीसी अजित बालाजी जोशी , पुलिस अधीक्षक अभिषेक जोरवाल, एडीसी गौरी पराशर जोशी, एसीयूटी प्रदीप दहिया विश्वविद्यालय से एक के शर्मा, एस के सिन्हा, बीजेपी के जिला प्रधान ओपी पहल, राष्ट्रीय किसान मोर्चा के सदस्य जवाहर सैनी, स्वामी राघवानन्द , संजय पंवार, अरूण जैन, सज्जन गर्ग समेत कई गणमान्य व्यक्ति एवं प्रशासनिक अधिकारी मौजूद थे। ----






वन एमपी वन आईडिया प्रतियोगिता का आयोजन करवाया जाएगा।

Dated : 3/16/2015 12:00:00 AM
जींद 16 मार्च डीसी अजित बालाजी जोशी ने बताया कि सांसद स्थानीय क्षेत्र विकास स्कीम के तहत हिसार लोकसभा क्षेत्र में वन एमपी वन आईडिया प्रतियोगिता का आयोजन करवाया जाएगा। इसके लिए आवेदन आमन्त्रित किये जा रहे है। इस प्रतियोगिता के अन्तर्गत विभिन्न क्षेत्रों जैसे शिक्षा और कौशल,स्वास्थ्य ,जल और स्वच्छता,आवास और बुनियादी ढांचा,कृषि उर्जा,पर्यावरण,सामुदायिक तथा सामाजिक सेवाएं आदि के क्षेत्र में नए समाधान प्रस्तुत कर सकते है। उन्होंने बताया कि इसके लिए एक चयन समिति द्वारा सभी आवेदनों की जांच की जाएगी। तीन सर्वश्रेष्ठ समाधानों को चयनित करके उन्हें क्रमश: दो लाख 50 हजार,एक लाख 50 हजार तथा एक लाख रूपए का नकद पुरस्कार दिया जाएगा। इसके अतिरिक्त अगले सर्वश्रेष्ठ नए 5 समाधानों को प्रशंसा प्रमाण पत्र भी दिये जाएगें। इन विजेताओं को माननीय सांसद लोकसभा हिसार द्वारा पुरस्कृत किया जाएगा। इस प्रतियोगिता के लिए आवेदन पत्र सम्बधित एसडीएम के कार्यालय से प्राप्त कर सक ते हेै। तथा आवेदन पत्र इसी कार्यालय में 30 मार्च 2015 तक जमा करवा सकते हेै। आवेदन पत्र ऑनलाइन 222.द्धद्बह्यड्डह्म्.द्दश1.द्बठ्ठ की साईट पर भी उपलब्ध है। इसके अतिरिक्त अन्य जानकारियां 222.द्वश्चद्यड्डस्रह्य.ठ्ठद्बष्.द्बठ्ठ साईट पर सांसद स्थानीय क्षेत्र विकास स्कीम की मार्गदर्शिका में उपलब्ध है। ----






प्रत्येक व्यक्ति स्वच्छता सत्याग्रही बनकर कार्य करें। डीसी अजित बालाजी जोशी

Dated : 3/16/2015 12:00:00 AM
जींद 16 मार्च केन्द्र सरक ार द्वारा देश को स्वच्छ बनाने के लिए चलाए गए अभियान को सफल बनाने के लिए प्रत्येक व्यक्ति स्वच्छता सत्याग्रही बनकर कार्य करें। स्वच्छता का अभियान व्यक्ति स्वयं को स्वच्छ रख करें तथा इसके बाद अन्य लोगों को भी स्वच्छता के महत्व के बारे में जागरूक करें। डीसी अजित बालाजी जोशी ने यह बात स्थानीय राजकीय महाविद्यालय में स्वच्छ भारत मिशन के तहत आयोजित स्वच्छता सप्ताह का उद्घाटन करने के उपरांत विद्यार्थियों को सम्बोधित करते हुए कही। उन्होंने कहा कि स्वच्छता बनाए रखने के लिए केन्द्र एवं राज्य सरकार सतत प्रयास कर रही है। इन प्रयासों को सफल बनाने के लिए प्रत्येक नागरिक को स्वच्छता के क्षेत्र में कार्य करते हुए अपनी सहभागिता सुनिश्चित करनी होगी। उन्होंने कहा कि स्वच्छता मानव जाति ही नहीं बल्कि पूरे परिवेश की अहम जरूरत होती है। जिस देश एवं प्रदेश में जितनी अधिक स्वच्छता होगी, वह प्रदेश हर क्षेत्र में उतना ही आगे बढ़ता जाता है। इसलिए देश एवं प्रदेश के विकास के लिए स्वयं स्वच्छता को अपनाएं और अन्य लोगों को भी स्वच्छता के महत्व के बारे में भी जागरूक करें। डीसी ने कहा कि भारत दुनिया का एकमात्र ऐसा देश है जहां स्वच्छता को बनाए रखने के लिए सरकार द्वारा प्रोत्साहन राशि दी जाती है ताकि लोग अपने आसपास स्वच्छता बनाए रखें। सरकार द्वारा शौचालय निर्माण के लिए राशि उपलब्ध करवाई जाती है। उन्होंने विद्यार्थियों का आह्वान करते हुए कहा कि वे अपने घर में हर हाल में शौचालय निर्माण करवाएं तथा राज्य एवं केन्द्र सरकार की स्वच्छता को बनाए रखने के लिए लागू की गई योजनाओं के बारे में आमजन को जागरूक करें। उन्होंने कहा कि स्वच्छता का महत्व आज से 9500 साल पहले के लोग भी बखूबी समझते थे। इसका प्रमाण राखीगढ़ी गांव में खुदाई के दौरान प्राप्त हुई उस समय की समृद्ध संस्कृति से भी मिला है। उस दौरान भी लोग अपने घरों के पास कूड़ा-कर्कट के निष्पादन के लिए गढ्ढे बनाते थे तथा बाद में इसका प्रयोग अन्य कार्यो में किया करते थे। उन्होंने कहा कि विद्यार्थियों को इस स्थल का भ्रमण करना चाहिए ताकि प्राचीन कालीन समृद्ध संस्कृति के बारे में अवगत हो सके। उन्होंने बताया कि प्राचीन कालीन यह सभ्यता राखी गढ़ी गांव के एक 350 हैक्टेयर क्षेत्र में फै ली हुई थी। कार्यक्रम में डीसी ने जल संरक्षण के महत्व पर भी प्रकाश डाला । उन्होंने कहा कि हर व्यक्ति को जरूरत से ज्यादा पानी खराब नहीं करना चाहिए। किसी भी सभ्यता एंव संस्कृति को जीवित रखने के लिए जल के नितांत जरूरत होती है। ऐसे में भविष्य में आने वाली पीढिय़ों को प्राप्त स्वच्छ जल उपलब्ध हो सके इसके लिए जल संरक्षण को एक आदत के रूप में अपनाएं। डीसी ने इस अवसर पर जल संरक्षण एंव स्वच्छता विषय पर आयेाजित प्रतियोगिता में प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय स्थान पर रहने वाले प्रतिभागी विद्यार्थियों को पुरस्कृत भी किया। इन विषयों पर आयोजित पेंटिंग प्रतियोगिता में कनिष्का तायल प्रथम, कनिका द्वितीय तथा रितू तीसरे स्थान पर रही। कार्यक्रम के उपरांत अतिरिक्त उपायुक्त गौरी पराशर जोशी ने स्वच्छता रैली को हरीझंडी दिखाकर महाविद्यालय से रवाना किया। उन्होंने रैली में शामिल विद्यार्थियों से कहा कि वे शहर की गली-गली जाकर आमजन को स्वच्छता बारे जागरूक करें। कार्यक्रम में जींद के एसडीएम विरेन्द्र सहरावत ,महाविद्यालय के प्राचार्य आरके हुड्डा, महिला महाविद्यालय के प्राचार्य विजेन्द्र सिंह ,बीजेपी के जिला उपाध्यक्ष राजसैनी तथा विभिन्न विभागों के विभागाध्यक्ष मौजूद थे। ----






13 से 15 मार्च तक गुडग़ांव में कृषि नेतृत्व शिखर सम्मेलन का आयोजन किया जाएगा।

Dated : 3/11/2015 12:00:00 AM
जींद, 11 मार्च आगामी 13 से 15 मार्च तक गुडग़ांव में कृषि नेतृत्व शिखर सम्मेलन का आयोजन किया जाएगा। इस सम्मेलन में हरियाणा व अन्य राज्यों के लगभग 50,000 किसानों तथा कृषि क्षेत्र से जुड़े लोगों के भाग लेने की आशा है जिन्हें कृषि की आधुनिकतम तकनीकों की जानकारी उपलब्ध है। इस संबंध में प्रदेश के कृषिमंत्री ओमप्रकाश धनखड़ द्वारा दिए गए ब्यान के बाद डीसी अजित बालाजी जोशी ने इस कार्यक्रम की विस्तार से जानकारी देते हुए बताया कि कृषि विभाग के अधिकारियों के अनुसार इस सम्मेलन के आयोजन के लिए गुडग़ांव के सैक्टर-29 स्थित लेजरवैली पार्क के साथ वाले खाली मैदान का चयन किया गया है। इस सम्मिट का आयोजन हरियाणा कृषि विभाग, बागवानी निदेशालय, वेयरहाउसिंग कारपोरेशन, हरियाणा एग्रो इन्डस्ट्रीज कारपोरेशन, हरियाणा बीज विकास निगम, एचएलआरडीसी, हरियाणा बीज प्रमाणन एजेंसी, हरियाणा किसान आयोग, सहकारिता विभाग, हरियाणा स्टेट को-ओपरेटिव अपैक्स बैंक लिमिटिड, फैडरेशन ऑफ को-ओपरेटिव शूगर मिल्स, हरियाणा डेरी डिवैलपमेंट को-ओपरेटिव फैडरेशन लिमिटिड, पशुपालन एवं डेरिंग विभाग, हरियाणा राज्य पशुधन विकास बोर्ड तथा मच्छलीपालन विभाग द्वारा संयुक्त रूप से किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि किसान पैवेलियन, सेमिनार, किसान गोष्ठिï, वर्कशॉप, कृषि तकनीक प्रदर्शनी ऑर्गेनिक फार्मिंग, तथा सांस्कृतिक कार्यक्रम सम्मिट के आकर्षण के केंद्र रहेंगे। हरियाणा राज्य कृषि विपणन बोर्ड तथा हैफेड सम्मिट के लिए नोडल एजेंसियां होगी। सम्मिट के पहले दिन कृषि एवं बागवानी पर एक सेमिनार होगा व एक प्रदर्शनी का भी आयोजन किया जाएगा। सम्मिट के दूसरे दिन कृषि से जुड़े हितधारकों की एक बैठक होगी तथा पोस्ट हारवैस्ट मैनेजमेंट मार्केटिंग, प्रोसैसिंग, माइक्रो फाइनैंसिंग तथा सस्टेनेबल एग्रीकल्चर से जुड़े विषयों पर एक प्रदर्शनी का आयोजन किया जाएगा। तीसरे दिन , पशुपालन, डेरी तथा मछली पालन की एक प्रदर्शनी लगाई जाएगी। इसके बाद पुरस्कार वितरण समारोह का आयोजन किया जाएगा। उन्होंने बताया कि सम्मिट के लिए सरकार द्वारा हालैंड व इजरायल सहित अन्य कई देशों से भी संपर्क किया गया है। इन देशों के कृषि विशेषज्ञ व किसान भी यहां आकर अपने अनुभवों तथा तकनीकों को सांझा करेंगे। इनके अलावा कृषि के क्षेत्र में नए आयाम स्थापित करने वाले देशभर के प्रगतिशील किसानों को भी आमंत्रित किया गया है। ----






बैंक खाते खुलवाने के लिए कर्मचारियों की डयूटियां भी निर्धारित कर दी गई हैं।

Dated : 3/11/2015 12:00:00 AM
जींद 11 मार्च विभिन्न सामाजिक सुरक्षा पैंशन योजनाओं की राशि लाभपात्र व्यक्तियों को सहजता से उपलब्ध करवाने के लिए जिला समाज कल्याण विभाग द्वारा विस्तृत कार्य योजना तैयार की गई हैं। इस कार्य योजना के तहत सभी योजनाओं की लाभपात्र व्यक्तियों को बैंक खातों के माध्यम से राशि उपलब्ध करवाई जाएगी। बैंक खाते खुलवाने के लिए कर्मचारियों की डयूटियां भी निर्धारित कर दी गई हैं। डीसी अजित बालाजी ने यह जानकारी देते हुए बताया कि जिन लोगों के बैंक खाते पूर्व में खुल चुके है, उन्हें दोबारा से खाते खुलवाने की आवश्यकता नहीं है। उन्होंने विभिन्न योजनाओं के लाभपात्र व्यक्तियों से कहा है कि वे फरवरी माह की पैंशन प्राप्त करने के लिए जांए तो उस समय अपने साथ दो फोटो , आधार कार्ड, पहचान पत्र एवं राशन कार्ड की फोटो स्टेट कॉपी लेकर जाएं। ताकि मौके पर ही खाते खोले जा सकेें। उन्होंने स्पष्ट किया कि जिन व्यक्तियों के खाते प्रधानमंत्री जनधन योजना व अन्य योजनाओं के तहत पहले खुल चुके है वे व्यक्ति अपने साथ बैंक खाते की छाया प्रति अवश्य लेकर जाएं ताकि उनके खाते लिंक किए जा सके। डीसी ने बताया कि विभिन्न्न योजनाओं के लाभपात्र व्यक्तियों को राशि प्राप्त करने में किसी प्रकार की कोई दिक्कत न हो इसके लिए सभी योजनाओं के लाभपात्र व्यक्तियों के खाते खुलवाए जा रहे है। प्रत्येक लाभपात्र व्यक्ति का खाता सुनिश्चित करने के लिए सभी सम्बंधित अधिकारियों एवं कर्मचारियों को निर्देश दिए गए है कि वे पैंशन वितरण होने वाले स्थानों पर मौजूद रहकर खाता खुलवाने वाले लोगों से सम्पर्क कर खाता खुलवाना सुनिश्चित करें। ----






जींद से रोहतक तक बनने वाले चारमार्गीय नेशनल हाईवे-71 पर तेजी से निर्माण कार्य चल रहा है।

Dated : 3/11/2015 12:00:00 AM
जींद 11 मार्च जींद से रोहतक तक बनने वाले चारमार्गीय नेशनल हाईवे-71 पर तेजी से निर्माण कार्य चल रहा है। नैशनल हाईवे अथोर्टी आफ इंडिया द्वारा करवाए जा रहे इस सड़क परियोजना पर 283 करोड़ 85 लाख रूपए की राशि खर्च की जाएगी। फिलहाल सड़क को चारमार्गीय बनाने के लिए सड़क के दोनों ओर खड़े पेड़ों की कटाई की गई । मिट्टी भरत कर सड़क को उच्चा उठाया जा रहा है। सड़क का निर्माण कार्य तेजी से चल रहा है। डीसी अजित बालाजी जोशी ने आज यह जानकारी देते हुए बताया कि इस सड़क परियोजना का निर्माण कार्य लगातार जारी है। जिस गति से सड़क का निर्माण कार्य चल रहा है उस हिसाब से निर्माण कार्य को निर्धारित समयावधि से पूर्व ही पूरा कर लिया जाएगा। सड़क के निर्माण कार्य में किसी प्रकार का गतिरोध न आए इसके लिए वन विभाग समेत अन्य विभागों से भी पहले की क्लीयरेंस ले ली गई हैं। सड़क निर्माण को लेकर वृक्षोंं की कटाई का कार्य पूरा करने के बाद मिट्टी भरत व अन्य कार्यो पर तेजी से काम करवाया जा रहा है। डीसी ने बताया कि नैशनल हाई-वे-71 पर पंजाब बार्डर -नरवाना-जींद-रोहतक रोड़ को फोरलेन का बनाया जाएगा। इस रोड़ की लम्बाई 92.605 किलोमीटर होगी। डीसी ने बताया कि रोड़ के निर्माण का कार्य पहले ही नैशनल हाइवे अर्थोटी ऑफ इंडिया को ट्रांसफर किया जा चुका है। उन्होंने ने बताया कि इस परियोजना के दो हिस्से है और इसका केन्द्र बिन्दु जिला का गांव अनुपगढ़ है। अनुपगढ़ से रोहतक तक इस सड़क की लम्बाई 48.600 किलोमीटर है । वर्तमान में इस रोड़ की चौड़ाई 10 मीटर है,जबकि प्रस्तावित मार्ग की चौड़ाई 17 मीटर होगी यानि दोनों तरफ से यह मार्ग 8.5 मीटर का होगा। इस मार्ग पर जुलाना व लाखनमाजरा में बाईपास भी बनाए जा रहे है । जिनकी लम्बाई क्रमश: 5.77 किलोमीटर व 2.700 किलोमीटर होगी। इसी प्रकार मार्ग पर 8 अण्डरपास भी बनाए जाएंगे,इनमें से 2 अण्डरपास जुलाना बाई पास पर एक-एक अण्डरपास गांव किलाजफरगढ़,चांदी, घरोटी, टिटोली ,लाखनमाजरा व रोहतक बाईपास पर बनाए जाएंगे। डीसी अजित बालाजी जोशी ने बताया कि इस मार्ग पर पडऩे वाले विभिन्न गांवों में 22 बस बॉएस भी बनाए जाएंगे ताकि रोड़ के किनारे पर बसों आदि को रोककर सवारियों को उतारा व चढाय़ा जा सके। इसके अलावा इस मार्ग पर पडऩे वाले विभिन्न गांवों में 12 सर्विस रोड़ भी बनाए जाएंगे,जिनकी कुल लम्बाई 18.710 किलोमीटर होगी। उन्होंने बताया कि इस परियोजना के दूसरे हिस्से में यह चारमार्गीय सड़क अनुपगढ़ से पंजाब बार्डर तक बनाई जाएगी। इस रोड़ की कुल लम्बाई 69.350 किलोमीटर होगी, जिसमें 15.650 किलोमीटर की लम्बाई वाला जींद बाईपास भी शामिल है। डीसी ने बताया कि इस रोड़ के निर्माण पर लगभग 483.75 करोड़ रूपए की लागत आएगी। उन्होंने बताया कि इस परियोजना का आरम्भ पंजाब बार्डर के गांव दातासिंह वाला से होगा। जींद -नगूरां रोड़ पर एक अण्डर पास बनाया जाएगा और हांसी-जींद असंध रोड़, जींद-सफीदों-पानीपत रोड़ व जींद-गोहाना-पानीपत रोड़ पर एक-एक पुल भी बनाया जाएगा। उन्होंने बताया कि इस मार्ग पर नरवाना कस्बें के दोनों ओर तथा उचाना गांव में सर्विस रोड़ भी बनाए जाएंगे,जिनकी लम्बाई 3.25 किलोमीटर की होगी। -----






पानीपत अर्बन कॉ-आप्रेटिव बैँक लिमिटिड की जींद जिला में स्थापित बाहरवीं शाखा का उद्घाटन रिबन काटकर विधिवत रूप से किया।

Dated : 3/10/2015 12:00:00 AM
जींद 10 मार्च डीसी अजित बालाजी जोशी ने स्थानीय घंटाघर जनता बाजार में द- पानीपत अर्बन कॉ-आप्रेटिव बैँक लिमिटिड की जींद जिला में स्थापित बाहरवीं शाखा का उद्घाटन रिबन काटकर विधिवत रूप से किया। उन्होंने एटीएम सुविधा कैबिन का भी उद्घाटन किया। इस अवसर पर बैंक के संस्थापक ओपी शर्मा तथा बैंक से जुड़े कई वरिष्ठ अधिकारी व प्रशासनिक अधिकारी मौजूद थे। डीसी ने इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए कहा कि सहकारिता का उदेश्य सभी लोगों को साथ लेकर चलना तथा समान रूप से विकास करना है। हरियाणा प्रदेश में सहकारिता के विकास के काफी अवसर हैं। उन्होंने कहा कि सहकारी बैंक की शाखाएं हर गांव में होनी चाहिए ताकि लोग अपनी छोटी-छोटी बचत को बैंक में जमा करवाकर भविष्य को सुरक्षित बना सकें। आने वाला समय बैंकिंग का होगा। उन्होंने सहकारी पानीपत बैंक के पदाधिकारियों से कहा कि वे अधिकाधिक लोगों को बैंकिंग की सुविधा से जोडऩे का कार्य करें ताकि उन्हें सरकारी योजनाओं का लाभ भी आसानी से उपलब्ध करवाया जा सके। उन्होंने यह भी कहा कि लोगों को रात में भी बैंकिंग सुविधा उपलब्ध हो सके इसके लिए शहरी क्षेत्र में रात्रिकालीन सहकारी बैंक की शाखाएं भी खोली जानी चाहिए। डीसी ने बताया कि इस बैंक ने पानीपत जिले में काफी अच्छा कार्य किया है। उन्होंने बैंक के संस्थापक से कहा कि वे जींद में भी इसी तरह का कार्य करके दिखाएं । पानीपत में बैंक द्वारा बुढ़ापा पैंशन वितरित करने के लिए लक्ष्य से अधिक खाते खोले गए । उन्होंने कहा कि बुढ़ापा पैंशन सीधे पात्र लोगों के खाते में पहुंच सके इसके लिए बैंक के माध्यम से खाते खुलवाए जाएगें। द- पानीपत अर्बन कॉ-आप्रेटिव बैँक लिमिटिड के संस्थापक ओपी शर्मा ने कहा कि इस सहकारी बैँक की स्थापना प्रदेश के पानीपत जिले में हुई थी। इसलिए इसका नामकरण पानीपत किया गया है। उन्होंने कहा कि बैंक ने अपना कार्य 2000 रूपए से शुरू किया था। अब बैंक का लेन देन 500 करोड़ रूपए से भी अधिक का हो गया है। देशभर में इस बैंक की 1606 शाखाएं खुल चुकी हैं। उन्होंने कहा कि बैंक का मुख्य उदेश्य लोगों को अधिकाधिक बैंकिग सुविधाएं सहजता से उपलब्ध करवाना है। उपभोक्ताओं को किसी प्रकार की कोई दिक्कत न हो इसके लिए इस सहकारी बैंक को पूर्ण रूप से कम्प्यूटरीकृत बनाया गया है। उन्होंने कहा कि भविष्य में उपभोक्ताओं को स्वाईप कार्ड की सुविधा उपलब्ध करवाने के लिए भी बैंक प्रबंधन द्वारा प्रयास किए जा रहे हैं। इस अवसर पर बैंक के सहायक रजिस्ट्रार सुधीर अहलावत , बैंक के अधिकारी वी वी अग्रवाल, जी आर शर्मा , शाखा प्रबंधक विकास समेत जिला प्रशासन के अधिकारी भी मौजूद थे। ----






आफ साईट डिजास्टर मैनेजमेंट प्लान के तहत एक मॉक ड्रिल आयोजित की गई।

Dated : 3/9/2015 12:00:00 AM
जींद 9 मार्च हिन्दुस्तान पेट्रोलियम कारपोरेशन लिमिटेड द्वारा सोमवार को जींद जिले के मालवी गांव के पास रमनमण्डी बहादुरगढ़ पाईपलाईन पर आफ साईट डिजास्टर मैनेजमेंट प्लान के तहत एक मॉक ड्रिल आयोजित की गई। जिसकी अध्यक्षता जींद के डीसी अजित बालाजी जोशी द्वारा की गई। इस आपदा प्रबंधन की ड्रिल मे एचपीसीएल द्वारा दिखाया गया कि अगर पैट्रोलियम पाईपलाईन में तेल का रिसाव तथा आग लगने की स्थिति हो तो उस स्थिति में किस प्रकार से बचाव तथा रोकथाम किया जाए। हिन्दुस्तान पेट्रोलियम कारपोरेशन लिमिटेड के प्रबंधक श्री समीर गुप्ता ने मॉक ड्रिल का नेतृत्व किया। उन्होंने पाइपलाईन के विभिन्न पहलूओं बारे में जानकारी दी। उन्होंने कहा कि पाईपलाईन तेल के आपूर्ति के लिए सबसे सस्ता और सुरक्षित माध्यम है। इससे देश की अर्थव्यवस्था में काफी बड़ा योगदान रहता है एवं विदेशी मुद्रा का भी संचार होता है। इस कार्यक्रम में अपने विचार वयक्त करते जिला के उपायुक्त अजित बालाजी जोशी ने एचपीसीएल के प्रयास की सराहना की तथा कहा कि ऐसे अभ्यास ड्रिल के द्वारा समाज में आपदा से निपटने के प्रति जागरूकता बढ़ती है। उन्होंने बताया कि हिंदुस्तान पैट्रोलियम का समाज निर्माण मे महत्वपूर्ण योगदान है तथा इस द्वारा बिछाई गई रमनमण्डी बहादुरगढ़ पाइपलाईन एक राष्ट्रीय संपति है, जिसकी सुरक्षा हम सब की जिम्मेदारी है। एचपीसीएल के अग्रि सुरक्षा अधिकारी निलाभ ने इस कार्यक्रम में सम्मिलित होने के लिए आए प्रशासनिक अधिकारियों, पुलिस अधिकारियों,फायर बिग्रेड का हिन्दुस्तान पैट्रोलियम की ओर से आभार व्यक्त किया तथा गांव वालों को पाईप लाईन की सुरक्षा तकनीक और टोल फ्री नम्बर 1800-111-276 की जानकारी दी। इस कार्यक्रम में जुलाना के एसएचओ संदीप हुड्डा, ग्राम मालवी के सरपचं श्री चांदराम, जिला पार्षद मीनू शर्मा, पूर्व सरंपच चांद राम, स्कूल के मुख्य अध्यापक रामभज श्योराण एंव गांव मालवी के गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे। ------






परीक्षाओं की निशुल्क तैयारी करवाने वाला जींद देश का पहला जिला बन गया है।

Dated : 3/9/2015 12:00:00 AM
जींद 9 मार्च जींद कैरियर काउंसलिंग सैंटर का उद्घाटन डीसी अजित बालाजी जोशी ने रिबन काटकर विधिवत रूप से किया। इसी के साथ विद्यार्थियों को नौकरियों के लिए ली जाने वाली प्रतियोगी परीक्षाओं की निशुल्क तैयारी करवाने वाला जींद देश का पहला जिला बन गया है। इस अवसर पर चौधरी रणबीर सिंह विश्वविद्यालय के उप कुलपति मेजर जनरल रणजीत सिंह अतिरिक्त उपायुक्त गौरी पराशर जोशी , एसीयूटी प्रदीप दहिया, जींद के एसडीएम वीरेन्द्र सहरावत , नगराधीश मेजर गायत्री अहलावत भी मौजूद थे। कैरियर एंड काउंसलिंग सैंटर के उद्घाटन के उपरांत डीसी ने कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए कहा कि यह सैंटर जींद जिला को शिक्षा के क्षेत्र में एक विशेष पहचान दिलवाने का काम करेगा। जिला के युवाओं को इस सैंटर में प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करवाई जाएगी। इसके लिए अलग-अलग विषयों के लिए शिक्षाविदों की नियुक्ति कर दी गई हैं। इस सैंटर में एक साथ 110 विद्यार्थी अध्यन्न कर सकते हैं। विद्यार्थियों को निशुल्क अध्यन्न के साथ-साथ पुस्तकालय की सुविधा भी उपलब्ध करवाई गई हैं। उन्होंने कहा कि कैरियर एंड काउंसलिंग सैंटर के सफल क्रियान्वयन के लिए 3 सदसीय कमेटी भी नियुक्त कर दी गई हैं। डीसी ने बताया कि प्रथम चरण में सैंटर में कर्मचारी चयन आयोग, एसएसबी, बैंकिंग , रेलवे , द्वारा निकाली जाने वाली प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करवाई जाएगी। इसके बाद दूसरे चरण में बैंक पीओ , भारतीय सेनाओं द्वारा आयोजित की जाने वाली परीक्षाओं की तैयारी भी शुरू करवाई जाएगी। उन्होंने कहा कि सैंटर स्थापित करने का मुख्य उदेश्य युवाओं को लक्ष्य देकर उसे प्राप्त करने में मार्ग दर्शन उपलब्ध करवाया जाएगा। उन्होंने कहा कि अभिभावक अक्सर लड़कियों को प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करने के लिए बाहर भेजने में संकोच करते हैं। ऐसे में यह सैंटर लड़कियों के लिए काफी कारगर साबित होगा। अतिरिक्त उपायुक्त गौरी पराशर जोशी ने कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए कहा कि कैरियर एवं जॉब में काफी अंतर होता हैं। कैरियर जहां जीवन में आगे बढऩे के लिए प्रेरित करता हैं वहीं जॉब एक कार्य होता है जिसके बदले व्यक्ति को पैसा मिलता हैं और वही उसके लिए आय उपार्जन का साधन होता हैं। उन्होंने युवाओं को प्रेरित करते हुए कहा कि जीवन में कैरियर बनाने के लिए अपना लक्ष्य निर्धारित कर कठिन मेहनत के साथ इसे प्राप्त करने की कोशिश करें। सैंटर में अध्यन्न कार्य सांय 3 बजे से 5 बजे तक होगा। कार्यक्रम को उपकुलपति रणजीत सिंह ने भी सम्बोधित किया। उन्होंने कहा कि देश के 692 विश्वविद्यालयों के अंतर्गत कहीं भी इस तरह का निशुल्क सेवाएं उपलब्ध करवाने वाला केन्द्र स्थापित नहीं किया गया है। निश्चित तौर पर यह सैंटर युवाओं को उच्च प्राप्त करने में सहायक साबित होगा। उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय की ओर से इस सैंटर की सफलता को सुनिश्चित करने के लिए हर संभव मदद उपलब्ध करवाई जाएगी। ----






कहसून गांव में हर्बल पार्क में विभिन्न 60 प्रजातियों के पौधे लगाए गए

Dated : 2/25/2015 12:00:00 AM
उचाना 25 फरवरी वन विभाग द्वारा जिला के कहसून गांव में 25 एकड़ में विकसित किये जा रहे हर्बल पार्क में अनेक दुर्लभ प्रजातियों के पेड़-पौधे, औषधीय पौधे धीरे-धीरे बढ़ रहे हैं। इस हर्बल पार्क में विभिन्न 60 प्रजातियों के पौधे लगाए गए। अब यह आंकड़ा बढ़कर 85 हो गया है। 60 प्रजातियों के पौधे जिनमें इमारती ,सजावटी, औषधीय पौधे शामिल है। यहां इस पार्क में नरकुंडी , खैर, कढ़ी पत्ता, अंजीर, चीकू, रूद्राक्ष, बोटल ब्रुश, कदम्ब, आस्ट्रेलियन जाल, हारश्रृंगार जैसे दुर्लभ पौधे भी लगाए गए है। वन विभाग द्वारा यहां आंवला , बड़ , अंजीर, तिलखन, चांदनी, मेहंदी, आक, बकायन, पुदीना, चम्पा, छुई-मुई, केला, कनेर, तुलसी, अमरूद , सुखम मलंगा, तिमाको, जामुन, अर्जुन, बेहड़ा, गिलोय, अजवायन, ऐराकेरियन, सफेद मूसली, कपूर, पत्थर चट, प्याज, लाल कचनूर जैसे पौधे लगाए गए हैं। सर्दी का मौसम जाते ही लगभग सभी औषधीय पौधों में फूटाव शुरू हो गया है। 25 एकड़ में विकसित किये जा रहे इस हर्बल पार्क में पौधों की सिंचाई के लिए टयूबवैल लगाया गया है। पाईप लाईनों के जरिए पौधो की पानी सिंचाई की व्यवस्था की गई हैं। इसके अतिरिक्त वन विभाग द्वारा ट्रैक्टर सहित पानी का टैंकर यहां पार्क में सिंचाई कार्य के लिए रखा गया है। 25 एकड़ में विकसित किए गए इस पार्क के निर्माण पर 25 लाख रूपए की राशि खर्च की गई है। पूरे पार्क के चारो तरफ चार दीवारी निकालकर आवारा पशुओं से बचाव किया गया है। लगभग चार एकड़ जमीन पर ग्वार पाठा लगाया गया है। लगभग साढ़े तीन एकड़ जमीन पर आंवला के पौधे हरे-भरे होने लगे हैं। पार्क में सजावटी घास गर्मी के मौसम के साथ ही हरी-भरी होने लगी हैं। वन विभाग द्वारा यहां औषधीय तथा दूसरे प्रकार के पौधों की नर्सरी भी तैयार की जा रही है। समूचे पार्क क्षेत्र को इस प्रकार से विकसित किया गया है कि कोई भी व्यक्ति यहां बनी पगडंडियों से होकर पूरे पार्क का अवलोकन कर सकता है। जींद शहर के हर्बल पार्क की तर्ज पर कहसून गांव के पार्क में भी पगडंडियां बनाई गई हैं। सिंचाई पानी के समूचित प्रयोग के लिए टपका सिंचाई की व्यवस्था भी की गई है। गांव से सटे होने के कारण यह पार्क प्रात: कालीन सैर के लिए लोगों के आकर्षण का केन्द्र बनता जा रहा है। डीसी अजित बालाजी जोशी ने बताया कि वन विभाग द्वारा यह पार्क विकसित किया जा रहा है। पिछले 26 दिसम्बर को माननीय मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल खट्टर द्वारा इस पार्क का लोकार्पण किया गया। अधिकतर फूल-पौधे फु टाव के लेवल पर हैं। कुछ महीनों के बाद जब से पौधे बड़े हो जाएगें यह एक आकर्षक पार्क बन जाएगा। उन्होंने बताया कि इसमें ऐसे दुर्लभ औषधीय पौधे लगाए गए है, जिनके अब तक उन्होंने नाम ही सुने होंगें। इस पार्क में इन दुर्लभ पौधों को देखा भी जा सकेगा। वन विभाग द्वारा यहां हर्बल पार्क की देखरेख के लिए 8 कर्मियों को लगाया गया है। पार्क का एक आकर्षक गेट भी बनाया गया है। पार्क के बीच में गोल चक्र बनाकर इसमेंं अलग-अलग किस्म के सजावटी पौधे लगाए गए हैं। शिघ्र ही यह पार्क लोगों की खास पसंद बन जाएगा। ----






देश की आजादी के आंदोलन में भाग लेने वाले त्रिलोकी नाथ शर्मा ने आज तड़के अंतिम सांस ली।

Dated : 2/24/2015 12:00:00 AM
जीन्द 24 फरवरी जींद की हाऊसिंग बोर्ड कालोनी के 91 वर्षीय देश की आजादी के आंदोलन में भाग लेने वाले त्रिलोकी नाथ शर्मा ने आज तड़के अंतिम सांस ली। स्थानीय बनखंडी महादेव स्वर्गाश्रम में पूरे राजकीय सम्मान के साथ उनका अंतिम संस्कार किया गया। जिला प्रशासन की तरफ से एसडीएम विरेन्द्र सहरावत ने त्रिलोकी नाथ शर्मा के पार्थिव शरीर पर पुष्प चक्र अर्पित किया। हरियाणा पुलिस की टुकड़ी ने मातमी धुन बजाकर दो राऊंड का फायर कर उन्हें सलामी दी। त्रिलोकी नाथ शर्मा के पुत्र जगमोहन शर्मा ने चिता को मुखाग्री दी। स्व० त्रिलोकी नाथ शर्मा के अंतिम संस्कार के मौके पर डीएसपी सुरेश कुमार, भाजपा शिक्षा प्रकोष्ठ के प्रदेश सह संयोजक प० सियाराम शास्त्री, पूर्व विधायक रामफल कुण्डू, पूर्व वाईस चांसलर एके चावला, नगरपरिषद के पूर्व चेयरमैन विनोद आशरी, हरिराम दीक्षित, जींद ब्राहम्ण सभा के प्रधान रामफूल शास्त्री, ब्रहाम्ण सभा के पूर्व प्रधान राजेश गौतम , बिजेन्द्र सिंह , इन्द्र सिहं भारद्वाज, जेपी गर्ग , एमजी कक्कड, रमाकांत शर्मा , कर्नल महिपाल शर्मा, ओपी मित्तल, पीसी जैन, धर्मपाल कटारिया, रघुबीर भारद्वाज , मानव सेवा समिति के प्रेम भारद्वाज , रोशन लाल, मनीराम गौड़ , जिला सैनिक बोर्ड के राजेन्द्र सिंह, पालेराम , राजबीर समेत अनेक स्वयं सेवी संगठनों के प्रतिनिधियों व गणमान्य व्यक्तियों ने त्रिलोकी नाथ शर्मा को अंतिम विदाई दी। त्रिलोकी नाथ शर्मा अपने पीछे भरापूरा परिवार छोड़ गए है। इनके चार बेटे और दो बेटियां हैं। इनके परिवार में 9 पोते , 3 पोती तथा 4 पड़पोते व 3 पड़पोतियां है। इनका जन्म 6 दिसम्बर 1924 को हुआ। उनके भाई हरि स्वरूप शर्मा ने बताया कि शुरू से ही उनमें देशभक्ति का जज्बा कूट-कूट कर भरा था। विद्यार्थी जीवन में अपने सहपाठियों को देशभक्ति का पाठ पढ़ाते थे। त्रिलोकी नाथ शर्मा में जिंदगी के अंतिम वर्षो में भी देशभक्ति का जज्बा बरकरार रहा। जिला प्रशासन द्वारा जींद की पुलिस लाइन मैदान में 66वें गणतंत्र दिवस समरोह में त्रिलोकी नाथ शर्मा को सम्मानित किया गया। जिंदगी के 91 बसंत देख चुके त्रिलोकी नाथ शर्मा अब तक जरूरतमंद लोगों के स्वास्थ्य की फ्री चैकअप करने, उन्हें मुफत दवा उपलब्ध करवाते थे। -----






जींद शहर के सभी पार्को का जीर्णोद्धार करने की योजना ।

Dated : 2/24/2015 12:00:00 AM
जीन्द 24 फरवरी श्रीमती गौरी पराशर जोशी ने जिला में अतिरिक्त उपायुक्त का कार्यभार संभालते ही डीआरडीए परिसर की सुध ली। प्रथम चरण में वाहनों को सलीके से खड़ा करने के लिए डीआरडीए के कर्मियों को पाबंध किया। यहां परिसर में पड़ी खाली जगह में पार्क विकसित करने की कार्य योजना को मूर्त रूप दिया। अकसर यहां डीआरडीए सभागार में आयोजित होने वाली बैठकों में विभागाध्यक्ष भाग लेते है और यहां कार्यालय भवन के सामने खाली पड़ी जगह सिर्फ वाहन पार्किंग स्थल बनकर रह गया था। अतिरिक्त उपायुक्त ने चरणबद्ध तरीके से यहां पार्क विकसित करने की योजना बनाई । प्रथम चरण में इस पार्क के चारो तरफ लगभग 3 फीट ऊंचाई की दीवार निक ाली । पार्क में सजावट घास लगाई गई हैं। जैसे-जैसे गर्मी का सीजन आ रहा है इस पार्क में हरियाली की छटा एक सुखद अहसास देने लगी है। पार्क में कोई आवारा पशु न घुसे इसके लिए कंटीले तार लगाए गए हैं। सजावटी घास में फूलों के पौधे चहकने लगे हैं। गर्मी पाकर यहां रोपे गए पौधों में भी कूपल फूटने लगी हैं। डीआरडीए परिसर में आने वाले प्रत्येक व्यक्ति का ध्यान इस पार्क पर अनायास ही पड़ता है। पार्क में पौधों के लिए पानी की भी समुचित व्यवस्था है । सही देखरेख का नतीजा यह रहा कि चंद ही दिनों में इस पार्क में हरियाली व पौधों पर फूल चहकने लगे हैं। अतिरिक्त उपायुक्त गौरी पराशर जोशी ने बताया कि जींद शहर के सभी पार्को का जीर्णोद्धार करने की योजना है। उन्होंने बताया कि उपायुक्त अजित बालाजी जोशी स्वयं पार्को के सुधारीकरण को लेकर गम्भीर हैं। इस कार्य के लिए स्वयं सेवी संगठनों के प्रतिनिधियों व एनएसएस व एनसीसी के विद्यार्थियों की भी सेवाएं पिछले दिनों ली गई। इसका नतीजा यह रहा कि शहर के कई पार्क आज नए लुक में नजर आने लगे हैं। लघु सचिवालय परिसर में कई पार्क ो में हरियाली की छटा देखने को मिलने लगी हैं। इनमेंं सजावटी पौधे भी हरे होने लगे हैं। रैडक्रॉस भवन डीसी कालोनी के पार्क में आकर्षक झूले लगाए गए हैं। जयंता देवी मन्दिर में दो बड़े पार्क विकसित किए गए है । सजावटी घास व फूलदार पौधे लगाए गए हैं। इन पार्को में बच्चों के खेलने के लिए विशेष प्रकार के झूले लगाए गए हैं। स्थानीय पटियाला चौंक पर तिकोना पार्क विकसित किया गया है। वाहनों की आवाजाही से पार्क की सुंदरता खराब न हो , इसके लिए तिकोना पार्क की आकर्षक चार दीवारी निकालकर उस पर आकर्षक ग्रिल लगाई गई हैं। यहां सजावटी घास व पौधे रोपित किए गए हैं। मेरा गांव मेरी बगिया कार्यक्रम के तहत जिला के रामराए गांव में आकर्षक पार्क विकसित किया गया है। इसी प्रकार हैबतपुर गांव में शहरी तर्ज पर पार्क बनाया गया है। नरवाना उपमंडल के उझाना तथा बेलरखां गांव में पार्क विकसित किए गए है। इनमें सजावटी घास , सजावटी पौधे लगाए गए हैं। गांव के लोग शहर की तर्ज पर इन पार्को में बैठकर सुकुन के क्षण बिता सकते हैं। अतिरिक्त उपायुक्त ने बताया कि जिला के ऐसे गांव जिनमें पंचायती जमीन उपलब्ध है और ग्राम पंचायतों के पास फंड उपलब्ध है, ऐसे गांव में चरणबद्ध तरीके से पार्क विकसित किए जाएंगें। -----






ई-दिशा केन्द्र में अब लम्बी कतारें दिखाई नहीं देगीं।

Dated : 2/24/2015 12:00:00 AM
जीन्द 24 फरवरी जिला मुख्यालय पर स्थापित ई-दिशा केन्द्र में अब लम्बी कतारें दिखाई नहीं देगीं। जिला प्रशासन ने लोगों की सुविधा के दृष्टिगत एडवांस लाइन प्रबंधन प्रणाली विकसित की है। जिसमें जिस व्यक्ति को जिस काम के लिए खिड़की पर जाना है, उसके लिए टोक न व्यवस्था शुरू की गई हैं। यहां विभिन्न प्रकार के 8 कार्यो के लिए टोकन प्राप्त किया जा सकता है। टोकन लेने के लिए बटन दबाना पड़ता है, जो टोकन पर्ची निकलेगी उसके ऊपर प्रार्थी के आवेदन का क्रमांक नम्बर , तिथि तथा समय भी अंकित होगा । इस प्रकार से अपना काम लेकर आए व्यक्ति को लम्बी लाईन में खड़ा होने की जरूरत नहीं रहेगी। उसे सम्बंधित खिड़की पर जाकर अपना टोकन जमा करवाना होगा । इसके बाद नम्बर के हिसाब से प्रार्थी अपना काम करवा सकते हैं। डीसी अजित बालाजी जोशी ने बताया कि ई-दिशा केन्द्र पर लोगों को किसी प्रकार की असुविधा न हो, इस बात को लेकर इस कार्य को पारदर्शी बनाया गया है। यहां ड्राईविंग लाइसेंस, सीएम विंडो, व्हीकल रजिस्ट्रेशन, प्रमाण पत्र सेवाएं, नकल , स्वयं घोषणा पत्र , पर्चा रजिस्टरी जैसी 8 सेवाओं के लिए अलग-अलग खिडकियां निर्धारित की गई हैं। इन सभी 8 सेवाओं के लिए एक ही काउंटर से बटन दबाकर सम्बंधित कार्य के लिए कूपन प्राप्त किया जा सकता है। टोकन सिस्टम से अपना काम लेकर आए लोगों को लाईन में खड़े होने जैसी असुविधा नहीं होगी। अपना काम लेकर आए संदीप पुत्र भीम सिंह ने बताया कि वह अपना ड्राईविंग लाईसेंस बनवाने के लिए यहां आया है। यहां की टोकन लेने की प्रक्रिया मुझे बहुत अच्छी लगी। न लाईन में खड़ा होना पड़ा बल्कि टोकन भी बटन दबाते ही सहजता से मिल गया जिसे खिड़की पर जमा करवाने उपरांत यह भी पता चल गया कि उनके आगे कितने प्रार्थी और है। -----






महिला सशक्तिकरण विषय पर आगामी 26 फरवरी को विचार गोष्टी का आयोजन किया जाएगा।

Dated : 2/18/2015 12:00:00 AM
जीन्द 18 फरवरी हरकोफैड द्वारा स्थानीय जाट धर्मशाला में महिला सशक्तिकरण विषय पर आगामी 26 फरवरी को प्रात 11 बजे एक दिवसीय विचार गोष्टी का आयोजन किया जाएगा। यह जानकारी हिसार के सहायक सहकारी शिक्षा अधिकारी महेन्द्र सिंह ने दी। -----






सांसद रमेश कौशिक 19 व 20 फरवरी को जुलाना हलके के कई गांवों का दौरा करेगें।

Dated : 2/18/2015 12:00:00 AM
जींद 18 फरवरी सोनीपत लोकसभा क्षेत्र के सांसद रमेश कौशिक आगामी 19 व 20 फरवरी को जुलाना हलके के कई गांवों का दौरा करेगें। सांसद अपना दो दिवसीय दौरा 19 फरवरी को प्रात: 10 बजे बुढ़ाखेड़ा लाठर गांव से शुरू करेंगें। इसके उपरांत सांसद 19 फरवरी को लिजवाना कलां, लिजवाना खुर्द , सिरसा खेड़ी, नंदगढ़, गतौली, गौसाईखेड़ा ,बूराडहर, बुआना तथा बराडखेड़ा पहुचेगें। सांसद 20 फरवरी को प्रात: 9 बजे लखमीर वाला गांव में पहुचेेंगें, इसके बाद सांसद बराहकलां, खरकरामजी, रधाना, शामलोखुर्द तथा किनाना गांव में पहुचेंगें। सांसद अपने दौरे के दौरान गांव में जनसभाओं को भी सम्बोधित करेंगें। यह जानकारी बीजेपी के जिला प्रधान डा. ओपी पहल ने दी। -----






सांसद रमेश कौशिक 19 व 20 फरवरी को जुलाना हलके के कई गांवों का दौरा करेगें।

Dated : 2/18/2015 12:00:00 AM
जींद 18 फरवरी सोनीपत लोकसभा क्षेत्र के सांसद रमेश कौशिक आगामी 19 व 20 फरवरी को जुलाना हलके के कई गांवों का दौरा करेगें। सांसद अपना दो दिवसीय दौरा 19 फरवरी को प्रात: 10 बजे बुढ़ाखेड़ा लाठर गांव से शुरू करेंगें। इसके उपरांत सांसद 19 फरवरी को लिजवाना कलां, लिजवाना खुर्द , सिरसा खेड़ी, नंदगढ़, गतौली, गौसाईखेड़ा ,बूराडहर, बुआना तथा बराडखेड़ा पहुचेगें। सांसद 20 फरवरी को प्रात: 9 बजे लखमीर वाला गांव में पहुचेेंगें, इसके बाद सांसद बराहकलां, खरकरामजी, रधाना, शामलोखुर्द तथा किनाना गांव में पहुचेंगें। सांसद अपने दौरे के दौरान गांव में जनसभाओं को भी सम्बोधित करेंगें। यह जानकारी बीजेपी के जिला प्रधान डा. ओपी पहल ने दी। -----






हरियाणा प्रदेश को हर हाल में भ्रष्टाचार मुक्त कर लोगों को स्वच्छ एवं पारदर्शी प्रशासन उपलब्ध करवाया जाएगा। कविता जैन

Dated : 2/18/2015 12:00:00 AM
जींद 18 फरवरी महिला एवं बाल विकास मंत्री कविता जैन ने कहा कि कुछ लोग प्रदेश को भ्रष्टाचार मुक्त होते देखना हजम नहीं कर पा रहे हैं। वे अपने स्वार्थो को साधने के लिए पुरानी भ्रष्टाचारी प्रणाली को दोबारा से लागू करने की जुग्गत में जुटे हुए है, लेकिन ऐसा किसी भी हाल में संभव नहीं होने दिया जाएगा। हरियाणा प्रदेश को हर हाल में भ्रष्टाचार मुक्त कर लोगों को स्वच्छ एवं पारदर्शी प्रशासन उपलब्ध करवाया जाएगा। महिला एवं बाल विकास मंत्री ने यह बात बुधवार को स्थानीय डीआरडीए के सभागार में आयोजित जिला विकास एवं निगरानी समिति की बैठक को सम्बोधित करते हुए कही। उन्होंने कहा कि हरियाणा प्रदेश आज हर क्षेत्र में विकास की राह पर अग्रसर हो रहा है। राज्य सरकार द्वारा आम लोगों की सुविधा के अनुरूप लोक कल्याणकारी योजनाएं बनाई जा रही हैं। उन्होंने कहा कि विडम्बना की बात यह है कि कुछ लोग प्रदेश के विकास को हजम नहीं कर पा रहें है और वे विकास में रोड़ा अटकाने के लिए हमेशा प्रयासरत्त रहते हैं। लेकिन विकास विरोधी वह शक्तियां कभी भी अपने मंसूबों में कामयाब नहीं होगीं। हरियाणा प्रदेश की जनता भारतीय जनता पार्टी के साथ है , अगर जनता का साथ यों ही रहा तो वह दिन दूर नहीं जब हरियाणा प्रदेश विकास के मामलें में देश का अग्रणी राज्य बन जाएगा। महिला एवं बाल विकास मंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि प्रदेश के विकास को लेकर राज्य सरकार का विजन बिलकुल साफ है । सरकार चाहती है कि हर क्षेत्र एवं वर्ग का समान रूप से विकास हो ऐसे में अधिकारी राज्य एवं केन्द्र सरकार द्वारा विकास परियोजनाओं के लिए भेजी जाने वाली धनराशि से विकास कार्यो में तेजी लाएं। उन्होंने कहा कि सरकार के पास विकास कार्यो के लिए पैसे की कोई कमीं नहीं हैं। डीसी अजित बालाजी जोशी ने मंत्री को बताया कि जिला प्लान योजना के तहत विकास कार्यो के लिए फिलहाल 2 करोड़ 95 लाख 50 हजार रूपए की राशि उपलब्ध है। इस राशि से अनेक विकास कार्य करवाने के लिए कार्ययोजनाएं तैयार की जा रही हैं। उन्होंने बताया कि उपलब्ध कुल राशि में से एक करोड़ 41 लाख 35 हजार रूपए की राशि सामान्य वर्ग के लोगों के लिए होने वाले विकास कार्यो पर खर्च की जाएगी जबकि शेष एक करोड़ 54 लाख 15 हजार रूपए की राशि अनुसूचित जाति के लोगों के लिए तैयार की जा रही विकास परियोजनाओं पर खर्च की जाएगी। महिला एवं बाल विकास मंत्री ने बैठक में जींद जिला के विकास के लिए कई परियोजनाओं को लेकर भी उपायुक्त से बातचीत की। बैठक में डीसी अजित बालाजी जोशी, एसडीएम वीरेन्द्र सहरावत, सफीदों की एसडीएम ममता शर्मा, नगराधीश गायत्री अहलावत, समेत जिला प्रशासन के सभी विभागों के विभागाध्यक्ष मौजूद थे। ----